Uniqueidea.net
 
 e-Card | Cinema | Wallpaper | SMS | Jokes | Poems | Story | Time Pass | Facts | Tips | FB Cover | Message Pic
SMS Category
 
Share your SMS for Holi Shayari


More for Holi Shayari Related Tag
 
 
SMS >> Holi Shayari


Saade rang ko galti se aap naa kora samjho,
Isi mey samaaye indradhanushi saaton rang,
Jo dikhe aapko zindagi saadagi bhari kisi ki,
To aap yun samjho satrangi hai duniya usiki,
Holi aayi satrangi rango ki bouchar laayi,
Dher saari mithai aur mitha mitha pyar laayi,
Aap ki zindagi ho mithe pyar aur khusiyon se bhari,
Jisme samaaye saaton rang yahi shubhkamna hai hamaari.
Mail to Friend   

Rajasthani Holi Shayari

हरख हेत सूं, मनावो होळी।
मती भूलो थै, थांरी बोली।।
जीवण रा सगळा रंग, इण में है।
नीं बोलां तो, आपांरी कमी है।।
बाणकुबाण नैं, देवो टिचकारी।
मायड़ भासा री, छोडो पिचकारी।।
होळी हुळसावे, मांनो रामांस्यामां।
दुखदाळद धुपे, लागो आपरै कामां।।
Mail to Friend   

रंगपर्व है, रंगमय हैं, हर मन आज हुआ रंग-मन
जी-भर खेलें होली हमसब, जीवन में हो रंग-रंग


राधा का रंग ओर कान्हा की पिचकारी..!
प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी..!
ये रंग ना जाने कोई जात ना कोई बोली..!
मुबारक हो आपको रंग भरी होली..! "


आपको ओर अपके पुरे परिवार को होली की ढेरो शुभकामनाएँ "
Mail to Friend   

"फागुन में घर आ गए
केसरिया भरतार
बिन अबीर के हो गया
गोरा मुख रतनार
"
"खुदा करे हर साल चाँद बन के आये;
दिन का उजाला शान बन के आये;
कभी दूर न हो आपके चेहरे से हंसी;
ये होली का त्यौहार ऐसे मेहमान बन के आये.

"
"मथुरा की खुशबू,गोकुल का हार,
वृन्दाबन की सुगंध, बरसाने की फुहार,
राधा की उम्मीद,कान्हा का प्यार,
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार.
Mail to Friend   

Rajasthani Holi Shayari

हिवड़े हिंवळास उठे, जदजद मचे होळी।
चंग री थाप पड़े जद, हिवड़ै हिलोरां होळी।।
मन रौ मोरियो नाच उठे, जद आवे होळी।
बैरभाव मन सूं निसरै, उमाव लावे होळी।।
सुख सांयत घर आवे, दुखदाळद बाळे होळी।
होळी रा रामराम थांनै, भूलीचूकी माफी होळी।।
मोद मनावो रळमिळ, ओ सनेसो देवे होळी।।
Mail to Friend   

राधा का रंग ओर कान्हा की पिचकारी..!
प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी..!
ये रंग ना जाने कोई जात ना कोई बोली..! मुबारक हो आपको रंग भरी होली..!

" आपको ओर अपके पुरे परिवार को होली की ढेरो शुभकामनाएँ "
Mail to Friend   

जरा सा मुस्करा देना होली मनाने से पहले,
हर गम को जला देना होली मनाने से पहले!

मत सोचना की किस किस ने दिल दुखाया है अब तक,
सब को माफ़ कर देना रंग लगानेसे पहले!

क्या पता फिर ये मौका मिले ना मिले,
इसलिए दिल को साफ़ कर लेना रंग लगाने से पहले!

होली का मौका है और इसलिए होली की
शुभ कामनाएँ ले लीजिये होली मनाने से पहले!"

होली की हार्दिक शुभ कामनाएँ"
Mail to Friend   

एक रंग चढ़ा, जो कभी उतरा ही नहीं
रंग ये दस्तूर का, रंग ये दस्तूर सा
रंग ये भरपूर सा, रंग उनके नूर का
रंग ये एहसास का, रंग एक सांस का
रंग मुझसे दूर का, रंग उनके पास सा
रंग ये एक हार का, रंग ये एक जीत का
रंग उनके प्यार का, रंग मेरे मीत का
एक रंग चढ़ा, जो कभी उतरा ही नहीं!


होली की शुभकामनाएँ
Mail to Friend   

कुछ काफ़िर नैन मटकते हों, तब देख बहारें होली की
===================================

जब फागुन रंग झमकते हों तब देख बहारें होली की
और डफ़ के शोर खड़कते हों तब देख बहारें होली की
परियों के रंग दमकते हों तब देख बहारें होली की
ख़म शीश-ए-जाम छलकते हों तब देख बहारें होली की
महबूब नशे में छकते हों तब देख बहारें होली की।

हो नाच रंगीली परियों का, बैठे हों गुलरू रंग भरे
कुछ भीगी तानें होली की, कुछ नाज़-ओ-अदा के ढंग भरे
दिल भूले देख बहारों को, और कानों में आहंग भरे
कुछ तबले खड़कें रंग भरे, कुछ ऐश के दम मुंह चंग भरे
कुछ घुंघरू ताल झनकते हों, तब देख बहारें होली की।

गुलज़ार खिलें हों परियों के और मजलिस की तैयारी हो
कपड़ों पर रंग के छीटों से खुश रंग अजब गुलकारी हो
मुँह लाल, गुलाबी आँखें हों और हाथों में पिचकारी हो
उस रंग भरी पिचकारी को अंगिया पर तक कर मारी हो
सीनों से रंग ढलकते हों तब देख बहारें होली की।

और एक तरफ़ दिल लेने को, महबूब भवइयों के लड़के
हर आन घड़ी गत फिरते हों, कुछ घट-घट के, कुछ बढ़-बढ़ के
कुछ नाज़ जतावें लड़-लड़ के, कुछ होली गावें अड़-अड़ के
कुछ लचकें शोख़ कमर पतली, कुछ हाथ चले, कुछ तन फड़के
कुछ काफ़िर नैन मटकते हों, तब देख बहारें होली की।

यह धूम मची हो होली की, और ऐश मज़े का झक्कड़ हो
उस खींचा-खींचाघसीटी पर, भड़ुए-रंडी का फक़्कड़ हो
माजून, शराबें, नाच, मज़ा और टिकियां, सुल्फ़ा-कक्कड़ हो
लड़-भिड़ के 'नज़ीर' भी निकला हो, कीचड़ में लत्थड़-पत्थड़ हो
जब ऐसे ऐश महकते हों, तब देख बहारें होली की॥

=============>> नज़ीर अकबराबादी
Mail to Friend   

मन में रहे उमंग तो समझो होली है,
जीवन में हो रंग तो समझो होली है ;
मीठा हो ठंडाई भी हो साथ मगर,
थोड़ी सी हो भंग तो समझो होली है ;
तन्हाई का दर्द बड़ा ही जालिम है ,
प्रियतम का हो संग तो समझो होली है ;
दिल न किसी का कोई यहाँ दुखाएँ बस ,
हो सुन्दर ये ढंग तो समझो होली है ;
दुश्मन को भी गले लगाना सीख जरा ,
जागे यही उमंग तो समझो होली है ;
इक दिन सबको बूढा होना है यारों ,
दिल हो लेकिन यंग तो समझो होली है . . .


होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !!!
Mail to Friend   



Page: 1/3 1 2 3 Next >

Latest SMS
it makes me so lucky ... in Mothers Day
Happy birthday to my Friend ... in Happy Birthday
Wish a very very Rraksha ... in Raksha Bandhan Shayari
बहन का प्यार किसी दुआ ... in Raksha Bandhan Shayari
Sisters are like stars in ... in Raksha Bandhan
Most E-mailed SMS
1960"s girl
Ami ma jeans pehn ... in Adult

AGAR APNE KABHI KISI SE ... in Question Answer
कुवारेँ की जिन्दगी AIRTEL की ... in Marriage
होली वही जो स्वाधीनता की ... in Holi Shayari
Major Rohail:
Dr. sab main jb ... in Adult

Entertainment News

 Contact Us | About Us | Advertise With Us | Privacy Policy |
© Pelagian Softwares 2007, All right reserved