Love shaayri for premika

प्रेम कहानी सखी सुनत सुहावे 
प्रेम कहानी सखी सुनत सुहावे... 

चोर चुरावे माल खजाना
पिया नैनं की निंदिया चुरावे 
प्रेम कहानी सखी सुनत सुहावे...

डाकू चलावे लोहे का भाला 
पिया नजरिया के तीर चलावे 
प्रेम कहानी सखी सुनत सुहावे...

प्रीत नगर की रीत निराली 
जो मर जाए अमर हो जाए 
प्रेम कहानी सखी सुनत सुहावे....Read Details