New Year facts Wishes And Messages, New Year facts WhatsApp Picture Sticker

आज हम ब्रिटिश पंचांग या

आज हम ब्रिटिश पंचांग या ग्रेगोरियन कलेंडर को व्यवहार में लाते हैं, जो शुद्ध नहीं है। इतिहास में 2 सितंबर 1752 का दिन महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस दिन ब्रिटिश संसद में पंचांग सुधार अध्यादेश पारित हुआ था, जिसमें कहा गया था कि सितंबर 2, 1752 के बाद आने वाला दिन सितंबर 14 होगा। 11 दिनों को गायब कर दिया गया, क्योंकि ईसाइयों को गणना में समस्या होने लगी थी। कारण कुछ भी हो, किंतु क्या यह खगोल प्रकृति के विरूद्ध नहीं है, फिर भी इसी कलेंडर को दुनिया ज्यादा व्यवहार में लाती है। इस कलेंडर को चलाए रखने के लिए दुनिया भर की घडियों तक को कुछ पल के लिए रोक देना पड़ता है। दूसरी ओर, विक्रम संवत में ऎसा परिवर्तन न कभी हुआ है और न कभी आवश्यकता पड़ेगी, क्योंकि यह भारतीय धार्मिक-सांस्कृतिक पंचांग या कलेंडर पूर्ण रूप से खगोल विज्ञान पर आधारित हैRead Details

Whatever you did in 2010, it

Whatever you did in 2010,
it has already happened. 
You have learned,
and make 2011 better than 2010.

Happy New YearRead Details

2011 began with 1\1\11, after 10

2011 began with 1\1\11,
after 10 days It'll be 11\1\11, 
after 10 months It'll be 1\11\11, 
then after 10 days again
It'll be 11\11\11


Happy New YearRead Details