Search More

poems> Rajasthani

केसरिया बालम आओ नि पधारो म्हारे देस

आंबा मीठी आमरी,
 (आम से भी मीठी ईमली.)
चोसर मीठी छाछ.
 (और सबसे मीठी छाछ)
आ..अलाप
 नैना मीठी कामरी
(सुंदर आँखो वाली कामिनी)
रन मीठी तलवार
(और युध में प्रिय तलवार..)
पधारो म्हारे देस, आओ म्हारे देस नि
 केसरिया बालम आओ नि पधारो म्हारे देस
 पधारो म्हारे देस, आओ म्हारे देस जी
 केसरिया बालम आओ नि पधारो म्हारे देस

पधारो बीकानेर।।। केसरियाबालम आओ नि पधारो म्हारे देस

Latest poems