Romantic poems Wishes And Messages, Romantic poems WhatsApp Picture Sticker

Tujhe Paa Liya tau Jag Paa Liya

तुझे पा लिया है जग पा लिया है
अब दिल में समाने लगी जिंदगी है

कभी गर्दिशों की कहानी लगी थी
मगर आज भाने लगी जिंदगी है

समय कैसे जाता समझ मैं ना पाता
अब समय को चुराने लगी जिंदगी है

कभी ख्बाब में तू हमारे थी आती
अब सपने सजाने लगी जिंदगी है

तेरे प्यार का ये असर हो गया है
अब मिलने मिलाने लगी जिंदगी है

मैं खुद को भुलाता, तू खुद को भुलाती
अब खुद को भुलाने लगी जिंदगी है....Read Details

Aapke pyar ki barish mein

Aapke pyar ki barish mein bhigna chahti hu,
aapki baho ki garmi mein pighalana chahti hu,

aapke ishq ke gehre sagar mein doob jana chahti hu,
aapke pyare chehre pe fida hona chahti hu,

aapki mithi baten mere dil ko lubhati hain,
bhigi si muskaan aapki mujhe deewana kar jati hai,
apke gusse mein bhi pyar chalakta hai,

anokhi aapki adaao pe mar mitne ko dil karta hai,
bade sajde kiye hai aapko paane ke liye,

ab kambhakt jamaane ki najro se aapko chupana chahti hu,
bus ab Sirf aapki hi hona chahti hu!Read Details

Girl -हमारे रिलेशन को ३

Girl -हमारे रिलेशन को ३ साल हो चुके है...
.
Boy:- हा जी.और 3 साल तक तुम्हारा इन्तेजार
भी किया तो टोटल 6 साल हो गये :)
.
.
girl:- चलो अपनी फ्रेंडशिप के पहले की बाते मुझे याद
दिलाओ जो मेरे दिल को छू जाये ;)
.
boy-ओहो...क्या याद दिलाऊ जान
.
girl-बस कुछ इस तरह से बताना के तुम्हारी बाते हमेशा याद
रहे..
.
Boy-चलो ठीक है तो सुनो...
"हर एक पल हर एक लम्हा याद है !
4 घंटो तक खिड़की में बैठकर तेरा इंतजार करना याद है!!
.
जब आई थी तुम मेरे घर पानी लेने!
वो 8th क्लास की मासूम सी लड़की याद है !!
.
हर रोज तुम्हे पलट कर देखना याद है !
स्कूल आते वक़्त तुमारा मुझे देख कर शर्मना याद है!!
.
8 अप्रैल को मुझे देख मुस्कुरायी थी तुम !
दिल चीर देने वाली वो तुमारी हसी याद है !!
.
रेड टॉप में तुमारा डांस करना याद है !
रौशनी के बीच मेरा बिना पलकें झपकाए तुझे देखना याद है !!
.
5 जून और श्रुत पंचमी की थी वो शाम !
मेरी जिन्दगी की सबसे बेह्तारिन्वो शाम याद है !!
.
27 अक्टूबर की वो दिवाली याद है !
वाइट ड्रेस पहन कर तेरा शॉप पे बेठना याद है !!
.
सरे दोस्तों को छोड़कर में वही खड़ा रहा !
वही रहकर तुझे देखना याद है !!
.
15th feb. को तुझे देखना याद है !
16th feb. को जुलुस में साथ चलना याद है !!
.
17th feb. सोचा अब तुझे न देखूंगा कभी !
18th feb. को तेरा मुझे प्रपोस करना याद है "!!
.
.
Girl-(wid tears) वो क्या बात हैं जान .
तुम्हे तो सब कुछ याद है ..
.
बस एक बार ये भी याद दिल दो के
मेने तम्हे पर्पस करते वक़्त क्या कहा था प्लीज
.
boy-ओके तेरा मुझे रोककर प्रपोज करना याद है !
मेरी धडकनों का तेज हो जाना याद है !!
.
तमने कहा Excusse मी तुमसे कुछ कहना है !
और फिर तुम्हारा एकदम से चुप हो जाना याद है !
.
ना तुम आगे कुछ बोल पाई न मैं कुछ कह पाया !
बस आँखों ही आँखों में एक दुसरे को स्वीकार कर लेना याद है !!Read Details

dil mein ishq-e-nabi ki ho

dil mein ishq-e-nabi ki ho aisi lagan
ruuh tadapti rahi dil machalta rahe
zindgi ka maza hai ke har saans se
ya muhammad muhmmad nikalta rahe
noor ke motiyon ki ladi ban gayi
ayaton se milata raha ayatayein
phir jo dekha toh naat-e-nabi ban gayi
jo bhi aansoo bahe mere mehboob ke
sab ke sab abr-e-rehmat ke chheente[छींटे] bane
chha gayi raat, jab zulf lehra gayi
jab tabasum kiya, chandni ban gayi
yeh toh maan ke jannat hai bagh-e-haseen
khubsurat hai sab khuld ki sar zameen
husn-e-zannat ko phir jab sameta gaya
sarwar-e-ambiya ki gali ban gayi
jab chirah tazkira unnke rukhsaar ka
waduha pad liya wal qamar keh diya
suatoon ki tilawat bhi hoti rahi
naat bhi ho gayi baat bhi ban gayi
sab se bekas tha bebas tha mazbuur tha
unnko reham aa gaya mere halaat par
meri azmat meri bebasi ban gayi
ya muhammad muhammad main kehta rahaRead Details

love song by software engg. Kal

love song by software engg.

Kal jab mile thhe....
to dil mein hua ek sound.
Aur aaj mile to kehte hain...
your FILE NOT FOUND!
------------ --------- ---------
Jo muddat se hota aaya hai,
woh repeat kar doonga...
Tu naa mili to apni zindagi
CTRL+ALT+ DEL kar doonga...
------------ --------- ---------
Shayad mere pyar ko
taste karna bhool gaye...
Dil sey aisa CUT kiya
ke PASTE karna bhool gaye....
------------ --------- ---------
Laakhon honge nigaah mein
kabhi mujhe bhi pick karo...
Mere pyaar ke icon pe
kabhi to DOUBLE CLICK karo...
------------ --------- ---------
Roz subha hum karte hain
pyar se unhe good morning...
Woh aise ghoor ke dekti hain
jaise 0 ERRORS aur 5 WARNING...
------------ --------- ---------
Aisa bhi nahin hai ke
I don't like your face.
Par dil ke storage mein
No more DISK SPACE.
------------ --------- ---------
Ghar se jab tum nikale
pehen ke reshmi gown.
Jaane kitne dilon ka
ho gaya SERVER DOWNRead Details

bahuth rota hai, Tute huwe

bahuth rota hai, 
Tute huwe dil ka har aansu ye kehta hai 
Na hona Qafa kabhi apni taqdeer ke khel se,
Hum yahan nahi tho wahan milenge... 
ye sochkar dil chup hojata hai.Read Details

Bikhar rahi hai meri Zindgi

Bikhar rahi hai meri Zindgi us se kehna
Kabhi miley to yahi baat us se kehna

Who sath tha to zamana tha hamsafar mera
Magar AB koi nahin merey sath us se kehna

Usey kehna k bin us k din nahin kat'ta
Sisik sisik k kati hai raat usey kehna

Usey pukaaron k khud hi pohanch jaoon us k pas
Nahin rahey who hallat usey kehna

Agar who phir b na lotey to aey meherban dost
Hamari zindgi k halaat usey kehna

Her jeet us k naam ker raha hoon main
Main manta hoon apni haar usey kehnaRead Details

Jaane Kya Baat Hai, Jaane

Jaane Kya Baat Hai, Jaane Kya Baat Hai
Neend Nahin Aati Badi Lambi Raat Hai

Saari Saari Raat Mujhe Isne Jagaya
Jaise Koi Sapna Jaise Koi Saaya
Koi Nahin Lagta Hai Koi Mere Saath Hai
Neend Nahin Aati Badi Lambi Raat Hai...

Dhakdhak Kabhi Se Jiya Dol Raha Hai
Ghungat Abhise Mera Khol Raha Hai
Door Abhi To Piya Ki Mulaqat Hai
Neend Nahin Aati Badi Lambi Raat Hai...
Jaane Kya Baat Hai..Read Details

phir khayaal ban ke aa

phir khayaal ban ke aa raha he koi
jaan-o-jigar me samaa raha he koi
bas nahi chalta khud pe, iss aalam me
tees ik dil me jaggaa raha he koi
azab rishta he, par phir bhi nahi he
kash-m-kash me phassa raha he koi
dastoor he, har riste ko koi naam dena
inhi batoon se uljha raha he koi
dekhne se chain he, na milne se karrar
is kaddar deewanaa banaa raha he koiRead Details

मुझे मिलना उस मोड़ पर

मुझे मिलना उस मोड़ पर ,
जहा केवल हम दोनों हो 
वो मोड़ एसा हो-----
जहा से ना पीछे हट सकू '
और से ना आगे जा सकु
बिन संग तुम्हारे 
मुझे मिलाना उस मोड़ पर 
जहा बसंती हवा के झोके मुझे 
मीठी सी कशिश में बांधले ले '
और तुम्हे भी रंग ले अपने रंग में .
मुझे मिलना उस मोड़ पर
जब मै बिखर जाऊ ,
अमलताश की भाति.....
और तुम समेट लो ....
अपनी बाहों में मुझे ...
मुझे मिलना उस मोड़ पर 
जब तुम सुनना चाहो
कुछ दिल से ---
और मै कुछ कहना चाहू 
दिल से .....Read Details

एक तन्हा पल जो छुकर

एक तन्हा पल जो छुकर तुम्हे 
मुझ तक हे आया 
मेरे मन के दर पर 
यादो की दस्तक बनकर छाया 
थोडा सा घबराया ,थोडा सा सकुचाया 
मेरे करीब बेठ थोडा वो अग्दाया 
शुरू हुआ फिर सिलसिला 
उँ बीते पलो को याद करने का 
जो मेने तुम्हारे साथ गुजारे
कभी ये पल ख़ुशी तो कभी ,
आखो को नम करते 
पर ये पल ही तो हे 
जिन्होंने अब तक मेरा साथ निभाया 
जब तुम हो कर भी नहीं थे 
और आज होकर भी नहीं हो मेरे पासRead Details

पीछे मुड के हमने जब

पीछे मुड के हमने जब देख़ा ,गुज़रा वो ज़माना याद आया।

बीती एक कहानी याद आइ, बीता एक फ़साना याद आया।..पीछे.

 सितारों को छूने की चाहत में, हम शम्मे मुहब्बत भूल गये।(2)

जब शम्मा जली एक कोने में, हम को परवाना याद आया।..पीछे.

 शीशे के महल में रहकर हम, तो हँसना-हँसाना भूल गये।(2)

पीपल की ठंडी छाँव तले वो हॅसना-हॅसाना याद आया।..पीछे.

 दौलत ही नहीं ज़ीने के लिये, रिश्ते भी ज़रूरी होते है।(2)

दौलत ना रही जब हाथों में, रिश्तों का खज़ाना याद आया।..पीछे.

 शहरॉ की ज़गमग-ज़गमग में, हम गीत वफ़ा के भूल गये।(2)

सागर की लहरॉ पे हमने, गाया था तराना याद आया।..पीछे.

 चलते ही रहे चलते ही रहे, मंजिल का पता मालूम न था।(2)

वतन की वो भीगी मिट्टी का अपना वो ठिकाना याद आया।..पीछे.

 अपनॉ ने हमें कमज़ोर किया, बाबुल वो हमारे याद आये।(2)

कमज़ोर वो ऑखॉ से उन को वो अपना रुलाना याद आया।..पीछे.

 अय राज़ कलम तुं रोक यहीं, वरना हम भी रो देंगे।(2)

तेरी ये गज़ल में हमको भी कोइ वक़्त पुराना याद आया।..पीछे.Read Details

पीछे मुड के हमने जब

पीछे मुड के हमने जब देख़ा ,गुज़रा वो ज़माना याद आया।

बीती एक कहानी याद आइ, बीता एक फ़साना याद आया।..पीछे.

 सितारों को छूने की चाहत में, हम शम्मे मुहब्बत भूल गये।(2)

जब शम्मा जली एक कोने में, हम को परवाना याद आया।..पीछे.

 शीशे के महल में रहकर हम, तो हँसना-हँसाना भूल गये।(2)

पीपल की ठंडी छाँव तले वो हॅसना-हॅसाना याद आया।..पीछे.

 दौलत ही नहीं ज़ीने के लिये, रिश्ते भी ज़रूरी होते है।(2)

दौलत ना रही जब हाथों में, रिश्तों का खज़ाना याद आया।..पीछे.

 शहरॉ की ज़गमग-ज़गमग में, हम गीत वफ़ा के भूल गये।(2)

सागर की लहरॉ पे हमने, गाया था तराना याद आया।..पीछे.

 चलते ही रहे चलते ही रहे, मंजिल का पता मालूम न था।(2)

वतन की वो भीगी मिट्टी का अपना वो ठिकाना याद आया।..पीछे.

 अपनॉ ने हमें कमज़ोर किया, बाबुल वो हमारे याद आये।(2)

कमज़ोर वो ऑखॉ से उन को वो अपना रुलाना याद आया।..पीछे.

 अय राज़ कलम तुं रोक यहीं, वरना हम भी रो देंगे।(2)

तेरी ये गज़ल में हमको भी कोइ वक़्त पुराना याद आया।..पीछे.Read Details

देखती होगी जब भी आईना

देखती होगी जब भी आईना खुद पे इतराती तो होगी...
महबूब की बाँहों में समाने को ये जवानी बल खाती तो होगी..
ख्वाब में ही सही मुझसे मिलने पर ये नजरें चुराती तो होगी..
तेरा दीवाना है सोच के मन ही मन तुम मुस्कराती तो होगी.. 
महबूब के पहले बोसे की महक तेरे दिल को गुदगुदाती तो होगी..
मधुर मिलन की तड़पन तेरे दिल की आग भड़काती तो होगी..
अपने दिल का हाल किससे कहुँ ये सोच के कसमसाती तो होगी..
कुछ ऐसा ही हाल है इधर जब से तुने इस दिल को धड़काया है.. 
सागर में भी था प्यासा इस बात का एहसास मुझे कराया है..
है इश्क आग का इक दरिया तो उस पार तेरा प्यार का बसाया है..
जानता हूँ तू सुबह की मखमली धूप और मुझपर रात का साया है..
जल जाऊँगा इस इश्क की आग में क्योंकि इसे तूने जो लगाया है.. 
हुस्न की आग और इश्क के परवाने की ये मोहब्बत तेरे सदके फरमाया है..
क्योंकि तेरे दिल की आहट ने ही मेरे दिल की आग को भड़काया है..Read Details

एक एहसास किसी के साथ का किसी

एक एहसास
किसी के साथ का
किसी के प्यार का
अपनेपन का.
एक अनकहा विश्वास
जो कराता है एहसास 
तुम्हारें साथ का
हर पल, हर क्षण.
इस क्षणिक जीवन की
क्षणभंगुरता को झुठलाता 
यह एहसास
शब्दो से परे
भावनाओ के आगोश में 
प्रतिपल लाता है
तुम्हें नजदीक मेरे
लौकिकता की
सीमा से परे
अलौकिक है
एहसास तुम्हारा.

Read Details

Kya Mange Chaand Taaron Se Sajee

Kya Mange

Chaand Taaron Se Sajee Raat Bhalaa Kya Maange
Jis Ko Mil Jaaye Tera Saath Bhalaa Kya Maange

Lab Pe Aayi Na Duaa Aur Qubool Ho Bhi Gayee
Ab Duaaon Mein Uthey Haath Bhalaa Kyaa Maange

Jis Ke Khwaabon Ki Ho Takmeel Usey Kya Gham Ho
Mil Gayee Jis Ko Kaainaat, Bhalaa Kya Maange

Manzil-e-Ishq Se Aage Bhi Qadam Kya Jaaye
Rang-e-Mehndi Se Saje Haath Bhalaa Kya Maange

Paa Liyaa Jis Ke Andheron Ne Roshni Ka Sabab
Us Ke Mehke Huve Jazbaat Bhalaa Kya MaangeRead Details

मेरी कहानी मेरा क़िस्सा हो

मेरी कहानी मेरा क़िस्सा हो तुम..
तुम्हे कैसे भुला सकता हूँ
कैसे दिल से मिटा सकता हूँ
मेरी साँसों का हिस्सा हो तुम
हम प्यार की डोर से बंधे भी हुए हैं
टूटे भी हुए हैं...
और हाथ से हाथ ये बंधे भी हुए हैं
छूटे भी हुए हैं
हम साथ है पर हमसफ़र नही
मेरे पास नही दूर ही सही
पर मेरी तो मंज़िल हो तुम..
मेरी कहानी .. मेरा क़िस्सा हो तुम..
तुम्हे कैसे भुला सकता हूँ
कैसे दिल से मिटा सकता हूँ
मेरी साँसों का हिस्सा हो तुमRead Details

Tarasti He Meri Aankhe, Aapke Chahre

Tarasti He Meri Aankhe,
Aapke Chahre Par Hasi Dekhne K Liye.
Taraste Mere Honth,
Aapke Labo Ko Chune K Liye.
Tarasti He Meri Suni Bahe,
Aapki Baho K Liye.
Tarasti He Meri Sanse,
Aapki Sanso K Milen Ke Liye.
Taraste He Ye Badal
Hum Dono Ko Bhigone K Liye.
Tarasti He Ye Hawa,
Hamari Ruh Ko Ek Karne K Liye.
Tarasti He Meri Ye Aawaj,
Tera Naam In Vadiyon Me Gujaane K Liye.
Tarasti He Meri Jaan,
Sirf Aap Ko Paane K Liye.Read Details

Hum baton se kuch bi

Hum baton se kuch bi izhaar nahi karte,

iska matlab ye nahi ki hum pyar nahi karte.

chahte hain hum unhe aaj bhi magar

unki soch mein apna waqt bekaar nahi karte.

Tamasha na ban jaye kahin mohabbat hamari,

isiliye apna dard ka izhaar nahi karte.

Jo kuch mila hai usi mein khush hain hum,

Unke liye khuda se taqraar nahi karte.

Par kuch to baat hai unki fitrat mein zaalim ,

Warna unhe chahne ki khata baar-baar nahi karteRead Details

फूलो से कह दो महकना

फूलो से कह दो महकना बंद कर दे, की उनकी महक की कोई जरूरत नही....

सितारो से कह दो चमकना बंद कर दे, की उनकी चमक की कोई जरूरत नही....

भवरो से कह दो अब ना गुनगुनाये, की उनकी गुंजन की कोई जरुरत नही....

सागर की लहरे चाहे तो थम जाये, की उनकी भी कोई जरुरत नही....

सुरज चाहे तो ना आये बाहर्, की उसकी किरणो की भी जरुरत नही....

चाँद चाहे तो ना चमके रात भर, की उसके आने की भी जरुरत नही....


वो जो आ गये हैं इस जहाँ में, तो दुनिया मे और किसी खूबसूरती की जरुरत ही नही ..Read Details

मानसरोवर सूं उड़ हंसौ, मरुथळ

मानसरोवर सूं उड़ हंसौ, मरुथळ मांही आयौ
धोरां री धरती नै पंछी, देख-देख चकरायौ

धूळ उड़ै अर लूंवा बाजै, आ धरती अणजाणी
वन-विरछां री बात न पूछौ, ना पिवण नै पाणी

दूर नीम री डाळी माथै, मोर निजर में आयौ,
हंसौ उड़कर गयौ मोर नै, मन रौ भेद बतायौ

अरे बावळा, अठै पड़्यौ क्यूं, बिरथा जलम गमावै
मानसरोवर चालर भाया, क्यूं ना सुख सरसावै

मोती-वरणौ निरमळ पाणी, अर विरछां री छाया
रोम-रोम नै तिरपत करसी, वनदेवी री माया

साची थारी बात सुरंगी, सुण सरसावै काया
जलम-भोम सगळा नै सुगणी, प्यारी लागै भाया

मरुधर रौ रस ना जाणै थूं, मानसरोवर वासी
ऊंडै पाणी रौ गुण न्यारौ, भोळा वचन-विलासी

दूजी डाळी बैठ्यौ विखधर, निजर हंस रै आयौ
सांप-सांप करतौ उड़ चाल्यौ, अंबर में घबरायौ

मोर उतावळ करी सांप पर, करड़ी चूंच चलाई
विखधर री सगळी काया नै, टुकड़ा कर गटकाई

अब हंस नै ठाह पड़ी आ, मोरां सूं मतवाळी
मानसरोवर सूं हद ऊंची, धरती धोरां वाळीRead Details

Is zindagi mein koi pal

Is zindagi mein koi pal to aisa ho jo tera 
mera ho,

jis me koi tesra na ho, hum dair tak aik dosre 
se batain 

karien, un baton ko sunney wala koi na ho, or 
baton me hi raat dhal jaye,

bas me or tum hon, youn hi bethy bethy
kisi bhi choti si 
baat pe hum betahasha hans perien,

hansty hansty ankho se aanso nikal parien,

in aanson ko saf karne wala koi na ho bus me 

or tum hoRead Details

छलका कर दो बूंद सुधा

छलका कर दो बूंद सुधा की
मेरे अधरों को दिया निमंत्रण
तेरे भंगुर चितवन ने
अपने मत्त-मय यौवन से

क्षण भर की वह मलयज बरखा
मैं समझा घन आज बरसने आया
व्याकुल होकर पंख जो इठलाया
देखा ! प्रीत मिलन थी माया 

उर में घिर चिर अभिलाषा
चेतना-पट पर बिखरी अविरल छाया
श्वासों में अनुनाद चित्तराग
बिन तेरी चाह अनङ्ग है अनुराग

आ जाओ ! ले रूप पारिजात
तेरी शीतलता में ढूढूंगा सन्यास
या हो जाओ मेरा जीवन पराग
बन मधुप दूंगा तुझमें प्राण त्याग ।Read Details

प्रिया तुम्हारी पैजन छम-छम प्रिया तुम्हारी

प्रिया तुम्हारी पैजन छम-छम

प्रिया तुम्हारी पैजन छम-छम,
बाजे मन अकुलाए।
जोगी मन को करे बिजोगी,
नैनन नींद चुराए।।

बोले जो मिसरी रस घोले,
शकन हरे पूछ के कैसे?
बसी श्यामली मन में,
धड़कन का घर हिय हो जैसे, 
मिलन यामिनी, मद मदिरा ले, जग के दु:ख बिसराए।

कटि नीचे तक, लटके चोटी,
चंद्र वलय के से दो बाले।
ओंठ प्रिया के सहज रसीले,
दो नयना मधुरस के प्याले।
प्रीति प्रिया की, धवल पूर्णिमा, नित अनुराग जगाए।

नयन बोझ उठाए क्षिति का,
तारों में अपने कल देखे।
इधर बावला धीरज खोता -
गीत प्रीत के नित लेखे।।
प्रीत दो गुनी हुई विरह में, मन विश्वास जगाए।Read Details

अगर रख सको तो एक

अगर रख सको तो एक निशानी हूँ मैं, 
और खो दो तो सिर्फ़ एक कहानी हूँ मैं,
रोक पाए ना जिसको ये सारी दुनिया, 
वो एक बूँद आँख का पानी हूँ मैं "




" जागे हैं देर तक हमें, कुछ देर सोने दो 
थोड़ी सी रात और है, सुबह तो होने दो 
आधे अधूरे ख्वाब जो, पूरे ना हो सके
एक बार फिर से नींद में, वो ख्वाब बोने दोRead Details

मन व्यथित जब ढूंढ रहा

मन व्यथित जब ढूंढ रहा था,
निज शाम-सवेरे दर तेरा,
क्यूँ आड़े-तिरछे चित्र बनाकर,
दिगभ्रमित किया ओ श्याम-सखा...

बाँध हृदय को प्रेम-पाश में,
हुए निष्ठुर क्यूँ आज प्रिये,
वशीभूत कर शब्द-जाल में,
क्यूँ मौन खड़े हो श्याम-सखा...

तन तो फ़िर भी ढाँप ही लूँगी,
मन कैसे मै बाँध सकूंगी,
तुझ बिन बरसे नैन-बावरे,
दरस दिखा ओ श्याम-सखा...

हर-पल तुमसे जो कहती हूँ,
आशय उसका तुम न समझे,
शब्द मेरे ही फ़स जाते है,
शब्द जाल मे ओ श्याम-सखा...

मैं वीणा तुम स्वर हो मेरे,
मैं पुष्प तुम सुगंध हो स्वामी,
मन वीणा को झंकृत करके,
कहाँ गये तुम श्याम-सखा...

आज मुझे तुम अंक लगा लो,
विरह-वेदना से मुक्त करो,
कहो कैसे मैं रह पाऊंगी,
तुम बिन बिरहन श्याम-सखा...Read Details

Itni haseen larki kabhi dheki

Itni haseen larki kabhi dheki na thi
Jis ki ankhoon main sharam thi
baato main jadoo tha
us ki Itni khubsoorat awaz thi
Jo us ki awaz sune sunta reh jata
us ki muskrahat jab wo muskrati Thi
main appna sare gham bhool jata
us ki ankhoom main ek nasha tha
dil kartaa tha us ki ankhoon main doob jane ka
jab se us ko dheka hain need nehi ati
us ki tasveer mere dil main utar gaye hain
dil kartaa hain dhekta rehoo use zindagi bhar
sayad wo pari hain itni khubsoorat
pari kabhi insaan ko mil nehi sakti
Itni haseen Larki kabhi dheki na thi ...Read Details